Amor contra viento y marea (título originalDilwale Dulhania Le Jayenge, en hindiदिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे, en españolEl valiente de corazón se llevará a la novia), también conocida por las siglas DDLJ, es una película romántica india escrita y dirigida por Aditya Chopra y producida por Yash Chopra, que se estrenó el 19 de octubre de 1995. La cinta está protagonizada por Shahrukh Khan y Kajol, cuya trama gira en torno a Raj y Simran, dos jóvenes indios que radican en el extranjero, que durante unas vacaciones por Europa con sus amigos ambos se conocen y se enamoran. Él intenta ganarse a la familia de Simran para que la pareja pueda casarse, pero hace mucho tiempo que el padre de ella la había comprometido con el hijo de su amigo. El filme fue filmado en India, Londres y Suiza, desde septiembre de 1994 hasta agosto de 1995.

 

दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे 1995 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है, जो डीडीएलजे के नाम से भी प्रसिद्ध है। फिल्म का निर्देशन निर्माता और निर्देशक आदित्य चोपड़ा ने किया है। शाहरुख़ ख़ानकाजोल और अमरीश पुरी फ़िल्म के प्रमुख कलाकारों में थे। फ़िल्म का पहला प्रदर्शन 19 अक्टूबर 1995 को हुआ और 20 अक्टूबर 1995 को इसे पूरे भारत में प्रदर्शित किया गया।

इस फिल्म ने भारत में 58 करोड़ रुपये, जबकि विदेशों में 17.5 करोड़ रुपये की कमाई की थी। विदेशों में यह हिन्दी सिनेमा की सबसे सफल फिल्मों मे से एक मानी जाती है। इस फिल्म का किसी भी सिनेमाघर पर सबसे ज्यादा समय तक चलने का कीर्तिमान है, मार्च 2009 में इसने मुंबई के मराठा मंदिर में 700 सप्ताहों तक चलने का कीर्तिमान बनाया, इससे पहले यह कीर्तिमान शोले के नाम था जो करीब साढ़े पांच सालों तक एक ही सिनेमाघर में चली। अपनी पहले प्रदर्शन के 20 साल बाद, 2019 तक, यह अभी भी मुंबई के मराठा मंदिर सिनेमाघर में दिखाया जा रहा है।

इंडियाटाइम्स मूवीज] पत्रिका ने इसे भारत की “25 फिल्म जरूर देखें” में शामिल किया है। दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे दुनिया के 1000 फिल्में, जिन्हें मरने से पहले जरूर देखें में शामिल है। इस सूची में हिंदी सिनेमा की महज तीन फ़िल्मे शामिल है।

Opina que es gratis